5 नवंबर 2010

१०. मन के कोने में भी

भाभी के कानों में
झूम रही बालियाँ!
दीपों से भरी-भरी
थिरक रहीं थालियाँ!

भाभी मुंडेरों पर
दीपक सजाती हैं!
दीवाली पर ढेरों
ख़ुशियाँ ले आती हैं!!

भइया ने लाकर के
दीं मुझको फुलझड़ियाँ!
चहक उठीं ओंठों पर
मुस्कानों की लड़ियाँ!

भाभी भी झूम-झूम
गीत गुनगुनाती हैं!
दीवाली पर ढेरों
ख़ुशियाँ ले आती हैं!!

भाभी की आँखों में
सुंदर-सा सपना है!
मन के कोने में भी
प्रेम-दीप "सजना" है !

भाभी की सपनीली
आँखियाँ मुस्काती हैं!
दीवाली पर ढेरों
ख़ुशियाँ ले आती हैं!!
--
रावेंद्रकुमार रवि

12 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढ़िया!


    सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
    दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
    खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
    दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

    -समीर लाल 'समीर'

    उत्तर देंहटाएं
  2. दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर रचना है!
    --
    प्रेम से करना "गजानन-लक्ष्मी" आराधना।
    आज होनी चाहिए "माँ शारदे" की साधना।।

    अपने मन में इक दिया नन्हा जलाना ज्ञान का।
    उर से सारा तम हटाना, आज सब अज्ञान का।।

    आप खुशियों से धरा को जगमगाएँ!
    दीप-उत्सव पर बहुत शुभ-कामनाएँ!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. भाभी मुंडेरों पर
    दीपक सजाती हैं!
    दीवाली पर ढेरों
    ख़ुशियाँ ले आती हैं!!

    भइया ने लाकर के
    दीं मुझको फुलझड़ियाँ!
    चहक उठीं ओंठों पर
    मुस्कानों की लड़ियाँ!

    भाभी भी झूम-झूम
    गीत गुनगुनाती हैं!
    दीवाली पर ढेरों
    ख़ुशियाँ ले आती हैं!!
    sunder kavita
    badhai
    saader
    rachana

    उत्तर देंहटाएं
  5. दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं....

    उत्तर देंहटाएं
  6. गीत बहुत सुंदर.
    परन्तु --"मन की महक"-related to क्वाँर की गुनगुनी होती धूप और धान की पकती हुई बालियों की सुगंध. विषय बदल दिया गया है

    क्या अब विषय "दीपावली" कर दिया गया है

    उत्तर देंहटाएं
  7. सराहनीय लेखन........हेतु बधाइयाँ...ऽ. ऽ. ऽ
    चिठ्ठाकारी के लिए, मुझे आप पर गर्व।
    मंगलमय हो आपको, सदा ज्योति का पर्व॥
    सद्भावी-डॉ० डंडा लखनवी

    उत्तर देंहटाएं
  8. सुंदर रचना. आभार.
    सादर,
    डोरोथी.

    उत्तर देंहटाएं
  9. वाह ! देवर जी़ भाभी के प्रति पवित्र अभिव्यक्ति मन को रास आ गयी। सुन्दर रचना के लिये बधाई ।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी टिप्पणियों का हार्दिक स्वागत है। कृपया देवनागरी लिपि का ही प्रयोग करें।